July 19, 2024

Awadh Speed News

Just another WordPress site

पंचदिवसीय गौ संसद् और श्रीविद्या साधना शिविर का होगा आयोजन

1 min read
Spread the love

*दिल्ली में इस बार आयोजित होगा ज्योतिष्पीठाधीश्वर शंकराचार्य जी का चातुर्मास्य महामहोत्सव

पंचदिवसीय गौ संसद् और श्रीविद्या साधना शिविर का होगा आयोजन

प्रेस विज्ञप्ति
प्रकाशनार्थ

*दिल्ली में इस बार आयोजित होगा ज्योतिष्पीठाधीश्वर शंकराचार्य जी का चातुर्मास्य महामहोत्सव

पंचदिवसीय गौ संसद् और श्रीविद्या साधना शिविर का होगा आयोजन

वाराणसी,15.6.24
परमाराध्य परमधर्मधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती 1008 जी महाराज का 22वां चातुर्मास्य व्रत महामहोत्सव इस बार आगामी संवत 2081गौ सम्वत्सर आषाढ़ पूर्णिमा से भाद्रपद पूर्णिमा तदनुसार दिनांक 21 जुलाई से 18 सितंबर तक दिल्ली में आयोजित होंगे।इस दौरान विभिन्न धर्मानुष्ठान सम्पन्न किए जाएंगे।इस सूचना से अवगत होने पर दिल्ली व आसपास के क्षेत्रों के भक्तों में हर्ष की लहर दौड़ पड़ी है।

उक्त जानकारी देते हुए परमधर्माधीश शंकराचार्य जी महाराज के मीडिया प्रभारी सजंय पाण्डेय ने बताया कि भारतीय परम्परा में सन्यास आश्रम को अत्यंत विशिष्ट स्थान प्राप्त है।सन्यासी परिव्राजक परम्परा में चातुर्मास्य के चार पक्षों में एक स्थान पर रहकर उस क्षेत्र के समस्त सनातनधर्मियों को अपने दर्शन,पूजन,भिक्षा-वंदन,जिज्ञासा-समाधान व प्रवचन आदि के द्वारा लाभान्वित करते हैं।कहा गया है चातुर्मास्य कराने वाले को राजसूय व अश्वमेध यज्ञ कराने का फल प्राप्त होता है।भारत मे परम्परागत राजतंत्र के उच्छिन्न हो जाने से अब राजसूय व अश्वमेध यज्ञ तो अनुष्ठित नही हो सकता है।परन्तु सन्यासी का चातुर्मास्य आयोजित कराकर इन यज्ञों का पुण्य फल अवश्य प्राप्त किया जा सकता है।इस बार दिल्ली व आसपास के क्षेत्रों के भक्त चातुर्मास्य व्रत महामहोत्सव पर्यन्त परमधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य जी महाराज का दर्शन-पूजन करने के साथ महाराजश्री का भिक्षा-वंदन आयोजित कर अनंत अक्षय पुण्य के भागी बन सकते हैं।

कार्यक्रम विवरण:-
नित्य पंचदेवोपासना
प्रतिदिन प्रतज 4:30 बजे श्रीगणेश पूजन,प्रातः 6:45 बजे श्रीसूर्य पूजन,प्रातः 8:00 बजे से 9:30 बजे तक विवेक चूणामणि पर नित्य पाठ, पूर्वाह्न 9:45 बजे श्रीविष्णु पूजन।
अपराह्न 3:45 बजे श्रीशिव पूजन,सायं 4 बजे से 6 बजे विविध धर्म विषय पर नित्य प्रवचन,सायं 6:45 बजे श्रीशक्ति पूजन सम्पन्न होगा। *24 से 28 जुलाई तक पंचदिवसीय गौ-संसद और 28 से 30 अगस्त तक त्रिदिवसीय श्रीविद्या साधना शिविर का आयोजन किया जाएगा।इसके अतिरिक्त *धर्म सम्राट श्रीकरपात्री जयंती*श्रावणी उपक्रम/रक्षासूत्र बंधन/संस्कृत दिवस *श्रीकृष्ण जन्माष्टमी अनंत चतुर्दशी व्रतचातुर्मास्य व्रत सम्पन्न/सीमोल्लंघन* आदि कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

समस्त आयोजनों का स्थल नरसिंह सेवा सदन,108,आदर्श नगर,ब्लॉक केपी,पूर्वी पीतमपुरा,पीतमपुरा,दिल्ली,110034 रहेगा।

मीडिया प्रभारी
सजंय पाण्डेय।
परमाराध्य परमधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य जी महाराज।

वाराणसी,15.6.24
परमाराध्य परमधर्मधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती 1008 जी महाराज का 22वां चातुर्मास्य व्रत महामहोत्सव इस बार आगामी संवत 2081गौ सम्वत्सर आषाढ़ पूर्णिमा से भाद्रपद पूर्णिमा तदनुसार दिनांक 21 जुलाई से 18 सितंबर तक दिल्ली में आयोजित होंगे।इस दौरान विभिन्न धर्मानुष्ठान सम्पन्न किए जाएंगे।इस सूचना से अवगत होने पर दिल्ली व आसपास के क्षेत्रों के भक्तों में हर्ष की लहर दौड़ पड़ी है।

उक्त जानकारी देते हुए परमधर्माधीश शंकराचार्य जी महाराज के मीडिया प्रभारी सजंय पाण्डेय ने बताया कि भारतीय परम्परा में सन्यास आश्रम को अत्यंत विशिष्ट स्थान प्राप्त है।सन्यासी परिव्राजक परम्परा में चातुर्मास्य के चार पक्षों में एक स्थान पर रहकर उस क्षेत्र के समस्त सनातनधर्मियों को अपने दर्शन,पूजन,भिक्षा-वंदन,जिज्ञासा-समाधान व प्रवचन आदि के द्वारा लाभान्वित करते हैं।कहा गया है चातुर्मास्य कराने वाले को राजसूय व अश्वमेध यज्ञ कराने का फल प्राप्त होता है।भारत मे परम्परागत राजतंत्र के उच्छिन्न हो जाने से अब राजसूय व अश्वमेध यज्ञ तो अनुष्ठित नही हो सकता है।परन्तु सन्यासी का चातुर्मास्य आयोजित कराकर इन यज्ञों का पुण्य फल अवश्य प्राप्त किया जा सकता है।इस बार दिल्ली व आसपास के क्षेत्रों के भक्त चातुर्मास्य व्रत महामहोत्सव पर्यन्त परमधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य जी महाराज का दर्शन-पूजन करने के साथ महाराजश्री का भिक्षा-वंदन आयोजित कर अनंत अक्षय पुण्य के भागी बन सकते हैं।

कार्यक्रम विवरण:-
नित्य पंचदेवोपासना
प्रतिदिन प्रतज 4:30 बजे श्रीगणेश पूजन,प्रातः 6:45 बजे श्रीसूर्य पूजन,प्रातः 8:00 बजे से 9:30 बजे तक विवेक चूणामणि पर नित्य पाठ, पूर्वाह्न 9:45 बजे श्रीविष्णु पूजन।
अपराह्न 3:45 बजे श्रीशिव पूजन,सायं 4 बजे से 6 बजे विविध धर्म विषय पर नित्य प्रवचन,सायं 6:45 बजे श्रीशक्ति पूजन सम्पन्न होगा। *24 से 28 जुलाई तक पंचदिवसीय गौ-संसद और 28 से 30 अगस्त तक त्रिदिवसीय श्रीविद्या साधना शिविर का आयोजन किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *